अश्वगंधा औषधि 6000 साल पुरानी जानिए इसके फायदे और नुकसानके बारे में
Sponsored Links

अश्वगंधा 6000 साल पुरानी औषधि जानिए इसके फायदे और नुकसानके बारे में – नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मै सभी के सामने एक बार फिर से उपस्थित हो एक बिल्कुल नई जानकारी के साथ । दोस्तों आज हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से एक ऐसी औषधि के बारे में बताएंगे जो लगभग 6000 वर्ष पुरानी है । इस चमत्कार औषधि का नाम अश्वगंधा है। आज हम आपको इसी के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

क्या है अश्वगंधा?

दोस्तों जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया अश्वगंधा लगभग 6000 साल पुराने औषधीय है। यह एक आयुर्वेदिक औषधि है । आयुर्वेदिक औषधि की लिस्ट में अश्वगंधा का एक विशेष स्थान है।  अश्वगंधा में इतनी क्षमता है कि यह बड़ी से बड़ी बीमारियों को खत्म कर सकती है।  

अश्वगंधा में जड़ो और पत्तियों का इस्तेमाल करके अनेक चमत्कारी दवाइयां बनाई जाती है । हम अगर बात इनकी वैज्ञानिक नाम की करें तो इसका वैज्ञानिक नाम  सोम्निफेरा है।

दोस्तों बात हम अश्वगंधा की महक की करें तो यह सुघने पर बिल्कुल अश्व के मूत्र की भांति महकती है इसीलिए ऐसे अश्वगंधा के नाम से जाना जाता है।

अश्वगंधा के शरीर की कई घातक बीमारियों से बचाने में हमारी रक्षा करती है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि अश्वगंधा में एंटी ऑक्सीडेंट एंटी इन्फ्लेमेटरी anti-stress एंटीबैक्टीरियल होते हैं।  साथ साथ इसमें इयूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने वाले भी गुण होते हैं । इसके कई सारे फायदे हैं । आइए आपको इसके कुछ फायदों के बारे में बताते हैं।

अश्वगंधा के फायदे

जैसा हमने आपको पहले बताया अश्वगंधा एक चमत्कारिक औषधि है। आयुर्वेद में अश्वगंधा को अच्छा स्थान मिला हुआ है।

अश्वगंधा का इस्तेमाल करने से तनाव चिंता थकावट नींद की कमी इत्यादि समस्याओं से समाधान मिलता है।

जिन लोगों को डिप्रेशन की समस्याएं उनके लिए भी अश्वगंधा रामबाण उपाय है।

   अश्वगंधा में उपस्थित एंटी इन्फ्लेमेटरी हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कंट्रोल रखती है।

जिन लोगों को कैंसर की समस्या है उनके लिए भी अश्वगंधा लाभदायक औषधि होती है।

शरीर में किसी अंग पर सूजन और दर्द को कम करने के लिए भी अश्वगंधा का इस्तेमाल होता है।

अश्वगंधा को घाव पर पीसकर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है।

यह शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करता है।

अश्वगंधा का इस्तेमाल मशरीर की त्वचा संबंधी रोगों का निदान करने में भी होता है शरीर की झुर्रियों को कम करता है।

 शरीर के अनिद्रा को दूर करता है।

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है।

अश्वगंधा के नुकसान

दोस्तों जहां अश्वगंधा के कुछ फायदे हैं वहां इसके कुछ नुकसान भी है।

अश्वगंधा का इस्तेमाल सीमित मात्रा से ज्यादा करने पर यह हमारे शरीर में पेट के लिए नुकसानदायक साबित होता है।  अश्वगंधा से डायरिया की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

अश्वगंधा  नींद के लिए बहुत फायदेमंद होता है लेकिन अगर आप इसका इस्तेमाल ज्यादा करते हैं तो आपको नुकसान पहुंचाएगा।

अश्वगंधा का इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा किया जाए तो आपको उल्टी आने लगेगी।

इसको इस्तेमाल करने से आपको बुखार थकान की समस्या भी होगी।

तो मैं आपको सलाह दूंगा कि आप अश्वगंधा का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से ही करें।

तो दोस्तों यह आप के लिए छोटी सी जानकारी थी ।  आज हमने आपका अश्वगंधा के फायदे तथा नुकसान के बारे में बताया । हमें उम्मीद है कि यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी । इसी तरह की जानकारी पाने के लिए आप हमारे साथ बहुत-बहुत धन्यवाद

दूध के साथ कभी न खाएं ये 3 चीजें- Health Tips