प्रेग्नेंसी में कौन-सी ड्रिंक है फायदेमंद और किससे करें परहेज?
Sponsored Links

प्रेग्नेंसी में महिलाओं को अपनी सेहत को लेकर काफी सतर्क रहना पड़ता है, खासकर खाने-पीने के मामले में क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान मां की जरा सी कमजोरी बच्चे की पूरी जिंदगी पर भारी पड़ सकती है।जी हां, इन नौ महीनों में हम क्या पी या खा रहे हैं, इसका सीधा असर बच्चे पर ही होता है। अक्सर कहा जाता है कि प्रेग्नेंट महिला को चाय नहीं पीनी चाहिए लेकिन अब सवाल उठता है कि प्रेग्नेंसी में महिलाओं को कौन सी ड्रिंक्स पीनी चाहिए जोकि मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद साबित हो? तो चलिए जानते है गर्भवती महिला के कौन-सी ड्रिंक बेस्ट है।

कौन-सी ड्रिंक है प्रेग्नेंट महिला के लिए बेस्ट?

वैसे तो प्यास बुझाने के लिए स्वच्छ और निर्मल पानी से बड़ी कोई चीज नहीं, लेकिन कई बार पानी के बजाए कुछ और पीने का मन करता है। हर्बल टी भी इस मौके के लिए बेस्ट है लेकिन दिन में 2 कप से ज्यादा हर्बल चाय न पीएं। इसके अलावा हम आपको 3 ऐसी ड्रिंक्स बताएं जो मां और बच्चे के लिए हैल्दी होगी। साथ ही आपको कुछ ड्रिंक्स से परहेज भी रखने के लिए बताएंगे।

सिट्रस ड्रिंक्स

सिट्रस ड्रिंक्स यानी कि खट्टे पेय पदार्थ, जैसे नींबू पानी, संतरे का जूस डाइट में शामिल करें। जहां संतरे के रस ब्लड प्रेशर को बेहतर रखता है, वहीं हड्डियों को भी मजबूत बनाता है। इसके अलावा यह प्रीनेटल विटामिन की तरह काम करता है, जिससे बच्चे के विकास तेजी से होता है। नींबू पानी पहली तिमाही में होने वाली मॉर्निंग सिकनेस से बचाता है।

दूध भी फायदेमंद

गर्भवती महिलाओं दूध भी फायदेमंद है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, दूध ही गर्भवती महिलाओं के लिए सबसे अच्छा नरीशमेंट है क्योंकि इसके सेवन से शरीर में जरूरी न्युट्रियंस, विटामिन्स और मिनरल्स पहुंचते हैं। इसलिए गर्भवती महिला को रोजाना कम से कम 1 गिलास दूध पीना चाहिए। आप चाहे तो डेयरी दूध के बजाए सोया मिल्क या फिर बादाम मिल्क पी सकती हैं।

हर्बल चाय

अगर आपका चाय पीने का मन है तो हर्बल चाय भी पी सकती है। ग्रीन टी, कैमोमाइल चाय (Chamomile Tea), लेमनग्रास टी (Lemongrass Tea) के अलावा चुकंदर वाली चाय पीएं। बता दें कि गर्भवती महिलाओं को पहली तिमाही से ही चुकंदर की चाय पीनी शुरू कर देनी चाहिए क्योंकि इसमें फॉलिक एसिड होता है, जो भ्रूण के विकास के साथ खून की कमी को दूर करने में भी मदद करता है। इसके अलावा इससे थकान, सुस्ती, अनिद्रा और स्ट्रेस भी दूर होता है।

ये 3 ड्रिंक्स तो प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए हैल्दी है लेकिन कुछ ऐसी ड्रिंक्स भी है जिनको पीने से गर्भवती को बचना चाहिए।

सोडा ड्रिंक

गर्भधारण की पहली 2 तिमाही में कैफीन से बिल्कुल दूर रहना चाहिए। कैफीन वाली ड्रिंक्स के अलावा सोडा और फिज वाली कोल्ड ड्रिंक्स से भी परहेज करना चाहिए। 2017 में हुई एक स्टडी के मुताबिक, प्रेग्नेंसी के दौरान सोडे का सेवन करने वाली महिलाओं के बच्चों में ओबेसिटी की समस्या होती है। इसके अलावा जो महिलाएं दिन में 2 से ज्यादा चीनी वाली ड्रिंक्स लेती हैं, उनके बच्चों को भी इसी प्रॉबल्म का सामना करना पड़ता है।

अनपाश्चराइज्ड ड्रिंक्स

इन दिनों मार्कीट में कई तरह के जूस व डिटोक्स ड्रिंक्स आ रही है लेकिन गर्भवती महिला के लिए इनका सेवन घातक साबित हो सकता है। अनपाश्चराइज्ड ड्रिंक्स और जूस के बजाए घर में निकाला ताजे फलों का जूस पीएं क्योंकि पैकेट बंद जूस में कई तरह की चीजें मिलाई जाती है जो पेट से जुड़ी समस्याएं जैसे फूड पॉइजनिंग हो सकती है।

नल का पानी

माना कि पानी शरीर को हाइड्रेटेड रखता है लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान नल का पानी पीना ठीक नहीं है क्योंकि इस पानी में कई दवाइयों व कैमिकल्स का इस्तेमाल होता है जोकि मां और बच्चे की सेहत बिगाड़ सकता है। ऐसे में खूब सारा पानी तो पीएं, मगर प्यूरीफाई।